ترجمهٔ معانی قرآن کریم - ترجمه هندی * - لیست ترجمه ها


ترجمهٔ معانی سوره: سوره مرسلات
آیه:
 

सूरा अल्-मुर्सलात

وَٱلۡمُرۡسَلَٰتِ عُرۡفٗا
शपथ है भेजी हुई निरन्तर धीमी वायुओं की!
تفسیرهای عربی:
فَٱلۡعَٰصِفَٰتِ عَصۡفٗا
फिर झक्कड़ वाली हवाओं की!
تفسیرهای عربی:
وَٱلنَّـٰشِرَٰتِ نَشۡرٗا
और बादलों को फैलाने वालियों की![1]
1. अर्थात जो हवायें अल्लाह के आदेशानुसार बादलों को फैलाती हैं।
تفسیرهای عربی:
فَٱلۡفَٰرِقَٰتِ فَرۡقٗا
फिर अन्तर करने[1] वालों की!
1. अर्थात सत्योसत्य तथा वैध और अवैध के बीच अन्तर करने के लिये आदेश लाते हैं।
تفسیرهای عربی:
فَٱلۡمُلۡقِيَٰتِ ذِكۡرًا
फिर पहुँचाने वालों की वह़्यी (प्रकाशना[1]) को!
1. अर्थात जो वह़्यी (प्रकाशना) ग्रहण कर के उसे रसूलों तक पहुँचाते हैं।
تفسیرهای عربی:
عُذۡرًا أَوۡ نُذۡرًا
क्षमा के लिए अथवा चेतावनी[1] के लिए!
1. अर्थात ईमान लाने वालों के लिये क्षमा का वचन तथा काफ़िरों के लिये यातना की सूचना लाते हैं।
تفسیرهای عربی:
إِنَّمَا تُوعَدُونَ لَوَٰقِعٞ
निश्चय जिसका वचन तुम्हें दिया जा रहा है, वह अवश्य आनी है।
تفسیرهای عربی:
فَإِذَا ٱلنُّجُومُ طُمِسَتۡ
फिर जब तारे धुमिल हो जायेंगे।
تفسیرهای عربی:
وَإِذَا ٱلسَّمَآءُ فُرِجَتۡ
तथा जब आकाश खोल दिया जायेगा।
تفسیرهای عربی:
وَإِذَا ٱلۡجِبَالُ نُسِفَتۡ
तथा जब पर्वत चूर-चूर करके उड़ा दिये जायेंगे।
تفسیرهای عربی:
وَإِذَا ٱلرُّسُلُ أُقِّتَتۡ
और जब रसूलों का एक समय निर्धारित किया जायेगा।[1]
1. उन के तथा उन के समुदायों के बीच निर्णय करने के लिये। और रसूल गवाही देंगे।
تفسیرهای عربی:
لِأَيِّ يَوۡمٍ أُجِّلَتۡ
किस दिन के लिए इसे निलम्बित रखा गया है?
تفسیرهای عربی:
لِيَوۡمِ ٱلۡفَصۡلِ
निर्णय के दिन के लिए।
تفسیرهای عربی:
وَمَآ أَدۡرَىٰكَ مَا يَوۡمُ ٱلۡفَصۡلِ
आप क्या जानें कि क्या है वह निर्णय का दिन?
تفسیرهای عربی:
وَيۡلٞ يَوۡمَئِذٖ لِّلۡمُكَذِّبِينَ
विनाश है उस दिन झुठलाने वालों के लिए।
تفسیرهای عربی:
أَلَمۡ نُهۡلِكِ ٱلۡأَوَّلِينَ
क्या हमने विनाश नहीं कर दिया (अवज्ञा के कारण) अगली जातियों का?
تفسیرهای عربی:
ثُمَّ نُتۡبِعُهُمُ ٱلۡأٓخِرِينَ
फिर पीछे लगा[1] देंगे उनके पिछलों को।
1. अर्थात उन्हीं के समान यातना ग्रस्त कर देंगे।
تفسیرهای عربی:
كَذَٰلِكَ نَفۡعَلُ بِٱلۡمُجۡرِمِينَ
इसी प्रकार, हम करते हैं अपराधियों के साथ।
تفسیرهای عربی:
وَيۡلٞ يَوۡمَئِذٖ لِّلۡمُكَذِّبِينَ
विनाश है उस दिन झुठलाने वालों के लिए।
تفسیرهای عربی:

أَلَمۡ نَخۡلُقكُّم مِّن مَّآءٖ مَّهِينٖ
क्या हमने पैदा नहीं किया है तुम्हें तुच्छ जल (वीर्य) से?
تفسیرهای عربی:
فَجَعَلۡنَٰهُ فِي قَرَارٖ مَّكِينٍ
फिर हमने रख दिया उसे एक सुदृढ़ स्थान (गर्भाशय) में।
تفسیرهای عربی:
إِلَىٰ قَدَرٖ مَّعۡلُومٖ
एक निश्चित अवधि तक।[1]
1. अर्थात गर्भ की अवधि तक।
تفسیرهای عربی:
فَقَدَرۡنَا فَنِعۡمَ ٱلۡقَٰدِرُونَ
तो हमने सामर्थ्य[1] रखा, अतः हम अच्छा सामर्थ्य रखने वाले हैं।
1. अर्थात उसे पैदा करने पर।
تفسیرهای عربی:
وَيۡلٞ يَوۡمَئِذٖ لِّلۡمُكَذِّبِينَ
विनाश है उस दिन झुठलाने वालों के लिए।
تفسیرهای عربی:
أَلَمۡ نَجۡعَلِ ٱلۡأَرۡضَ كِفَاتًا
क्या हमने नहीं बनाया धरती को समेटकर[1] रखने वाली?
1. अर्थात जब तक लोग जीवित रहते हैं तो उस के ऊपर रहते तथा बसते हैं। और मरण के पश्चात उसी में चले जाते हैं।
تفسیرهای عربی:
أَحۡيَآءٗ وَأَمۡوَٰتٗا
जीवित तथा मुर्दों को।
تفسیرهای عربی:
وَجَعَلۡنَا فِيهَا رَوَٰسِيَ شَٰمِخَٰتٖ وَأَسۡقَيۡنَٰكُم مَّآءٗ فُرَاتٗا
तथा बना दिये हमने उसमें बहुत-से ऊँचे पर्वत और पिलाया हमने तुम्हें मीठा जल।
تفسیرهای عربی:
وَيۡلٞ يَوۡمَئِذٖ لِّلۡمُكَذِّبِينَ
विनाश है उस दिन झुठलाने वालों के लिए।
تفسیرهای عربی:
ٱنطَلِقُوٓاْ إِلَىٰ مَا كُنتُم بِهِۦ تُكَذِّبُونَ
(कहा जायेगाः) चलो उस (नरक) की ओर जिसे तुम झुठलाते रहे।
تفسیرهای عربی:
ٱنطَلِقُوٓاْ إِلَىٰ ظِلّٖ ذِي ثَلَٰثِ شُعَبٖ
चलो ऐसी छाया[1] की ओर जो तीन शाखाओं वाली है।
1. छाया से अभिप्राय, नरक के धुवें की छाया है। जो तीन दिशाओं में फैला होगा।
تفسیرهای عربی:
لَّا ظَلِيلٖ وَلَا يُغۡنِي مِنَ ٱللَّهَبِ
जो न छाया देगी और न ज्वाला से बचायेगी।
تفسیرهای عربی:
إِنَّهَا تَرۡمِي بِشَرَرٖ كَٱلۡقَصۡرِ
वह (अग्नि) फेंकती होगी चिँगारियाँ भवन के समान।
تفسیرهای عربی:
كَأَنَّهُۥ جِمَٰلَتٞ صُفۡرٞ
जैसे वह पीले ऊँट हों।
تفسیرهای عربی:
وَيۡلٞ يَوۡمَئِذٖ لِّلۡمُكَذِّبِينَ
विनाश है उस दिन झुठलाने वालों के लिए।
تفسیرهای عربی:
هَٰذَا يَوۡمُ لَا يَنطِقُونَ
ये वो दिन है कि वे बोल[1] नहीं सकेंगे।
1. अर्थात उन के विरुध्द ऐसे तर्क परस्तुत कर दिये जायेंगे कि वह अवाक रह जायेंगे।
تفسیرهای عربی:
وَلَا يُؤۡذَنُ لَهُمۡ فَيَعۡتَذِرُونَ
और न उन्हें अनुमति दी जायेगी कि वे बहाने बना सकें।
تفسیرهای عربی:
وَيۡلٞ يَوۡمَئِذٖ لِّلۡمُكَذِّبِينَ
विनाश है उस दिन झुठलाने वालों के लिए।
تفسیرهای عربی:
هَٰذَا يَوۡمُ ٱلۡفَصۡلِۖ جَمَعۡنَٰكُمۡ وَٱلۡأَوَّلِينَ
ये निर्णय का दिन है, हमने एकत्र कर लिया है तुम्हें तथा पूर्व के लोगों को।
تفسیرهای عربی:
فَإِن كَانَ لَكُمۡ كَيۡدٞ فَكِيدُونِ
तो यदि तुम्हारे पास कोई चाल[1] हो, तो चल लो।
1. अर्थात मेरी पकड़ से बचने की।
تفسیرهای عربی:
وَيۡلٞ يَوۡمَئِذٖ لِّلۡمُكَذِّبِينَ
विनाश है उस दिन झुठलाने वालों के लिए।
تفسیرهای عربی:
إِنَّ ٱلۡمُتَّقِينَ فِي ظِلَٰلٖ وَعُيُونٖ
निःसंदेह, आज्ञाकारी उस दिन छाँव तथा जल स्रोतों में होंगे।
تفسیرهای عربی:
وَفَوَٰكِهَ مِمَّا يَشۡتَهُونَ
तथा मन चाहे फलों में।
تفسیرهای عربی:
كُلُواْ وَٱشۡرَبُواْ هَنِيٓـَٔۢا بِمَا كُنتُمۡ تَعۡمَلُونَ
खाओ तथा पिओ मनमानी उन कर्मों के बदले, जो तुम करते रहे।
تفسیرهای عربی:
إِنَّا كَذَٰلِكَ نَجۡزِي ٱلۡمُحۡسِنِينَ
हम इसी प्रकार प्रतिफल देते हैं।
تفسیرهای عربی:
وَيۡلٞ يَوۡمَئِذٖ لِّلۡمُكَذِّبِينَ
विनाश है उस दिन झुठलाने वालों के लिए।
تفسیرهای عربی:
كُلُواْ وَتَمَتَّعُواْ قَلِيلًا إِنَّكُم مُّجۡرِمُونَ
(हे झुठलाने वालो!) तुम खा लो तथा आनन्द ले लो कुछ[1] दिन। वास्तव में, तुम अपराधी हो।
1. अर्थात संसारिक जीवन में।
تفسیرهای عربی:
وَيۡلٞ يَوۡمَئِذٖ لِّلۡمُكَذِّبِينَ
विनाश है उस दिन झुठलाने वालों के लिए।
تفسیرهای عربی:
وَإِذَا قِيلَ لَهُمُ ٱرۡكَعُواْ لَا يَرۡكَعُونَ
जब उनसे कहा जाता है कि (अल्लाह के समक्ष) झुको, तो झुकते नहीं।
تفسیرهای عربی:
وَيۡلٞ يَوۡمَئِذٖ لِّلۡمُكَذِّبِينَ
विनाश है उस दिन झुठलाने वालों के लिए।
تفسیرهای عربی:
فَبِأَيِّ حَدِيثِۭ بَعۡدَهُۥ يُؤۡمِنُونَ
तो (अब) वे किस बात पर इस (क़ुर्आन) के पश्चात् ईमान[1] लायेंगे?
1. अर्थात जब अल्लाह की अन्तिम पुस्तक पर ईमान नहीं लाते तो फिर कोई दूसरी पुस्तक नहीं हो सकती जिस पर वह ईमान लायें। इसलिये कि अब और कोई पुस्तक आसमान से आने वाली नहीं है।
تفسیرهای عربی:

 
ترجمهٔ معانی سوره: سوره مرسلات
فهرست سوره ها شماره صفحه
 
ترجمهٔ معانی قرآن کریم - ترجمه هندی - لیست ترجمه ها

ترجمه معانی قرآن کریم به زبان هندی، مترجم: مولانا عزیز الحق عمری، ناشر: مجمع لاملک فهد لطباعة المصحف الشریف. سال چاپ: 1433هـ.

بستن