কুরআনুল কারীমের অর্থসমূহের অনুবাদ - হিন্দি অনুবাদ * - অনুবাদসমূহের সূচী

ডাউনলোড XML - ডাউনলোড CSV - ডাউনলোড Excel

অর্থসমূহের অনুবাদ সূরা: সূরা আল-মুরসালাত
আয়াত:
 

सूरा अल्-मुर्सलात

وَٱلۡمُرۡسَلَٰتِ عُرۡفٗا
शपथ है भेजी हुई निरन्तर धीमी वायुओं की!
আরবি তাফসীরসমূহ:
فَٱلۡعَٰصِفَٰتِ عَصۡفٗا
फिर झक्कड़ वाली हवाओं की!
আরবি তাফসীরসমূহ:
وَٱلنَّـٰشِرَٰتِ نَشۡرٗا
और बादलों को फैलाने वालियों की![1]
1. अर्थात जो हवायें अल्लाह के आदेशानुसार बादलों को फैलाती हैं।
আরবি তাফসীরসমূহ:
فَٱلۡفَٰرِقَٰتِ فَرۡقٗا
फिर अन्तर करने[1] वालों की!
1. अर्थात सत्योसत्य तथा वैध और अवैध के बीच अन्तर करने के लिये आदेश लाते हैं।
আরবি তাফসীরসমূহ:
فَٱلۡمُلۡقِيَٰتِ ذِكۡرًا
फिर पहुँचाने वालों की वह़्यी (प्रकाशना[1]) को!
1. अर्थात जो वह़्यी (प्रकाशना) ग्रहण कर के उसे रसूलों तक पहुँचाते हैं।
আরবি তাফসীরসমূহ:
عُذۡرًا أَوۡ نُذۡرًا
क्षमा के लिए अथवा चेतावनी[1] के लिए!
1. अर्थात ईमान लाने वालों के लिये क्षमा का वचन तथा काफ़िरों के लिये यातना की सूचना लाते हैं।
আরবি তাফসীরসমূহ:
إِنَّمَا تُوعَدُونَ لَوَٰقِعٞ
निश्चय जिसका वचन तुम्हें दिया जा रहा है, वह अवश्य आनी है।
আরবি তাফসীরসমূহ:
فَإِذَا ٱلنُّجُومُ طُمِسَتۡ
फिर जब तारे धुमिल हो जायेंगे।
আরবি তাফসীরসমূহ:
وَإِذَا ٱلسَّمَآءُ فُرِجَتۡ
तथा जब आकाश खोल दिया जायेगा।
আরবি তাফসীরসমূহ:
وَإِذَا ٱلۡجِبَالُ نُسِفَتۡ
तथा जब पर्वत चूर-चूर करके उड़ा दिये जायेंगे।
আরবি তাফসীরসমূহ:
وَإِذَا ٱلرُّسُلُ أُقِّتَتۡ
और जब रसूलों का एक समय निर्धारित किया जायेगा।[1]
1. उन के तथा उन के समुदायों के बीच निर्णय करने के लिये। और रसूल गवाही देंगे।
আরবি তাফসীরসমূহ:
لِأَيِّ يَوۡمٍ أُجِّلَتۡ
किस दिन के लिए इसे निलम्बित रखा गया है?
আরবি তাফসীরসমূহ:
لِيَوۡمِ ٱلۡفَصۡلِ
निर्णय के दिन के लिए।
আরবি তাফসীরসমূহ:
وَمَآ أَدۡرَىٰكَ مَا يَوۡمُ ٱلۡفَصۡلِ
आप क्या जानें कि क्या है वह निर्णय का दिन?
আরবি তাফসীরসমূহ:
وَيۡلٞ يَوۡمَئِذٖ لِّلۡمُكَذِّبِينَ
विनाश है उस दिन झुठलाने वालों के लिए।
আরবি তাফসীরসমূহ:
أَلَمۡ نُهۡلِكِ ٱلۡأَوَّلِينَ
क्या हमने विनाश नहीं कर दिया (अवज्ञा के कारण) अगली जातियों का?
আরবি তাফসীরসমূহ:
ثُمَّ نُتۡبِعُهُمُ ٱلۡأٓخِرِينَ
फिर पीछे लगा[1] देंगे उनके पिछलों को।
1. अर्थात उन्हीं के समान यातना ग्रस्त कर देंगे।
আরবি তাফসীরসমূহ:
كَذَٰلِكَ نَفۡعَلُ بِٱلۡمُجۡرِمِينَ
इसी प्रकार, हम करते हैं अपराधियों के साथ।
আরবি তাফসীরসমূহ:
وَيۡلٞ يَوۡمَئِذٖ لِّلۡمُكَذِّبِينَ
विनाश है उस दिन झुठलाने वालों के लिए।
আরবি তাফসীরসমূহ:

أَلَمۡ نَخۡلُقكُّم مِّن مَّآءٖ مَّهِينٖ
क्या हमने पैदा नहीं किया है तुम्हें तुच्छ जल (वीर्य) से?
আরবি তাফসীরসমূহ:
فَجَعَلۡنَٰهُ فِي قَرَارٖ مَّكِينٍ
फिर हमने रख दिया उसे एक सुदृढ़ स्थान (गर्भाशय) में।
আরবি তাফসীরসমূহ:
إِلَىٰ قَدَرٖ مَّعۡلُومٖ
एक निश्चित अवधि तक।[1]
1. अर्थात गर्भ की अवधि तक।
আরবি তাফসীরসমূহ:
فَقَدَرۡنَا فَنِعۡمَ ٱلۡقَٰدِرُونَ
तो हमने सामर्थ्य[1] रखा, अतः हम अच्छा सामर्थ्य रखने वाले हैं।
1. अर्थात उसे पैदा करने पर।
আরবি তাফসীরসমূহ:
وَيۡلٞ يَوۡمَئِذٖ لِّلۡمُكَذِّبِينَ
विनाश है उस दिन झुठलाने वालों के लिए।
আরবি তাফসীরসমূহ:
أَلَمۡ نَجۡعَلِ ٱلۡأَرۡضَ كِفَاتًا
क्या हमने नहीं बनाया धरती को समेटकर[1] रखने वाली?
1. अर्थात जब तक लोग जीवित रहते हैं तो उस के ऊपर रहते तथा बसते हैं। और मरण के पश्चात उसी में चले जाते हैं।
আরবি তাফসীরসমূহ:
أَحۡيَآءٗ وَأَمۡوَٰتٗا
जीवित तथा मुर्दों को।
আরবি তাফসীরসমূহ:
وَجَعَلۡنَا فِيهَا رَوَٰسِيَ شَٰمِخَٰتٖ وَأَسۡقَيۡنَٰكُم مَّآءٗ فُرَاتٗا
तथा बना दिये हमने उसमें बहुत-से ऊँचे पर्वत और पिलाया हमने तुम्हें मीठा जल।
আরবি তাফসীরসমূহ:
وَيۡلٞ يَوۡمَئِذٖ لِّلۡمُكَذِّبِينَ
विनाश है उस दिन झुठलाने वालों के लिए।
আরবি তাফসীরসমূহ:
ٱنطَلِقُوٓاْ إِلَىٰ مَا كُنتُم بِهِۦ تُكَذِّبُونَ
(कहा जायेगाः) चलो उस (नरक) की ओर जिसे तुम झुठलाते रहे।
আরবি তাফসীরসমূহ:
ٱنطَلِقُوٓاْ إِلَىٰ ظِلّٖ ذِي ثَلَٰثِ شُعَبٖ
चलो ऐसी छाया[1] की ओर जो तीन शाखाओं वाली है।
1. छाया से अभिप्राय, नरक के धुवें की छाया है। जो तीन दिशाओं में फैला होगा।
আরবি তাফসীরসমূহ:
لَّا ظَلِيلٖ وَلَا يُغۡنِي مِنَ ٱللَّهَبِ
जो न छाया देगी और न ज्वाला से बचायेगी।
আরবি তাফসীরসমূহ:
إِنَّهَا تَرۡمِي بِشَرَرٖ كَٱلۡقَصۡرِ
वह (अग्नि) फेंकती होगी चिँगारियाँ भवन के समान।
আরবি তাফসীরসমূহ:
كَأَنَّهُۥ جِمَٰلَتٞ صُفۡرٞ
जैसे वह पीले ऊँट हों।
আরবি তাফসীরসমূহ:
وَيۡلٞ يَوۡمَئِذٖ لِّلۡمُكَذِّبِينَ
विनाश है उस दिन झुठलाने वालों के लिए।
আরবি তাফসীরসমূহ:
هَٰذَا يَوۡمُ لَا يَنطِقُونَ
ये वो दिन है कि वे बोल[1] नहीं सकेंगे।
1. अर्थात उन के विरुध्द ऐसे तर्क परस्तुत कर दिये जायेंगे कि वह अवाक रह जायेंगे।
আরবি তাফসীরসমূহ:
وَلَا يُؤۡذَنُ لَهُمۡ فَيَعۡتَذِرُونَ
और न उन्हें अनुमति दी जायेगी कि वे बहाने बना सकें।
আরবি তাফসীরসমূহ:
وَيۡلٞ يَوۡمَئِذٖ لِّلۡمُكَذِّبِينَ
विनाश है उस दिन झुठलाने वालों के लिए।
আরবি তাফসীরসমূহ:
هَٰذَا يَوۡمُ ٱلۡفَصۡلِۖ جَمَعۡنَٰكُمۡ وَٱلۡأَوَّلِينَ
ये निर्णय का दिन है, हमने एकत्र कर लिया है तुम्हें तथा पूर्व के लोगों को।
আরবি তাফসীরসমূহ:
فَإِن كَانَ لَكُمۡ كَيۡدٞ فَكِيدُونِ
तो यदि तुम्हारे पास कोई चाल[1] हो, तो चल लो।
1. अर्थात मेरी पकड़ से बचने की।
আরবি তাফসীরসমূহ:
وَيۡلٞ يَوۡمَئِذٖ لِّلۡمُكَذِّبِينَ
विनाश है उस दिन झुठलाने वालों के लिए।
আরবি তাফসীরসমূহ:
إِنَّ ٱلۡمُتَّقِينَ فِي ظِلَٰلٖ وَعُيُونٖ
निःसंदेह, आज्ञाकारी उस दिन छाँव तथा जल स्रोतों में होंगे।
আরবি তাফসীরসমূহ:
وَفَوَٰكِهَ مِمَّا يَشۡتَهُونَ
तथा मन चाहे फलों में।
আরবি তাফসীরসমূহ:
كُلُواْ وَٱشۡرَبُواْ هَنِيٓـَٔۢا بِمَا كُنتُمۡ تَعۡمَلُونَ
खाओ तथा पिओ मनमानी उन कर्मों के बदले, जो तुम करते रहे।
আরবি তাফসীরসমূহ:
إِنَّا كَذَٰلِكَ نَجۡزِي ٱلۡمُحۡسِنِينَ
हम इसी प्रकार प्रतिफल देते हैं।
আরবি তাফসীরসমূহ:
وَيۡلٞ يَوۡمَئِذٖ لِّلۡمُكَذِّبِينَ
विनाश है उस दिन झुठलाने वालों के लिए।
আরবি তাফসীরসমূহ:
كُلُواْ وَتَمَتَّعُواْ قَلِيلًا إِنَّكُم مُّجۡرِمُونَ
(हे झुठलाने वालो!) तुम खा लो तथा आनन्द ले लो कुछ[1] दिन। वास्तव में, तुम अपराधी हो।
1. अर्थात संसारिक जीवन में।
আরবি তাফসীরসমূহ:
وَيۡلٞ يَوۡمَئِذٖ لِّلۡمُكَذِّبِينَ
विनाश है उस दिन झुठलाने वालों के लिए।
আরবি তাফসীরসমূহ:
وَإِذَا قِيلَ لَهُمُ ٱرۡكَعُواْ لَا يَرۡكَعُونَ
जब उनसे कहा जाता है कि (अल्लाह के समक्ष) झुको, तो झुकते नहीं।
আরবি তাফসীরসমূহ:
وَيۡلٞ يَوۡمَئِذٖ لِّلۡمُكَذِّبِينَ
विनाश है उस दिन झुठलाने वालों के लिए।
আরবি তাফসীরসমূহ:
فَبِأَيِّ حَدِيثِۭ بَعۡدَهُۥ يُؤۡمِنُونَ
तो (अब) वे किस बात पर इस (क़ुर्आन) के पश्चात् ईमान[1] लायेंगे?
1. अर्थात जब अल्लाह की अन्तिम पुस्तक पर ईमान नहीं लाते तो फिर कोई दूसरी पुस्तक नहीं हो सकती जिस पर वह ईमान लायें। इसलिये कि अब और कोई पुस्तक आसमान से आने वाली नहीं है।
আরবি তাফসীরসমূহ:

 
অর্থসমূহের অনুবাদ সূরা: সূরা আল-মুরসালাত
সূরাসমূহের সূচী পৃষ্ঠার নাম্বার
 
কুরআনুল কারীমের অর্থসমূহের অনুবাদ - হিন্দি অনুবাদ - অনুবাদসমূহের সূচী

হিন্দি ভাষায় কুরআনুল কারীমের অর্থসমূহের অনুবাদ। অনুবাদ করেছেন মাওলানা আযিযুল হক আল-উমরি। প্রকাশ করেছে বাদশাহ ফাহাদ মুসহাফ শরীফ মুদ্রণ কমপ্লেক্স। প্রকাশকাল ১৪৩৩হি.

বন্ধ